What is Share Market in hindi

Introduction

What is Share Market in hindi इस blog में मैने शेअर market की basic चिजे को बताया है।

Share market ने पिछले 10 साल मे 13 से 18 % का return दिया है । fixed asset class (FD) मे 6 to 7 % return मिलता है ।

आपने Rs 100 का fixed deposit किया और उसपर आपको 6% return मिलता है।
आपको 1 साल बाद Rs 106 मिलेंगे लेकिन महंगाई भी बड रहि है, हरसाल 6%+ का तो inflation होता है। जो चिज आज Rs 100 मे मिलती है वो एक साल बाद Rs 106 मे मिलेंगी तो 6% का return आपके किस काम का ? इसलिए अगर हम share market मे सोच-समझकर invest करेंगे तो longterm मे बहुत बढिया return कमा सकते है ।

What is share market in hindi

Nifty & Sensex क्या है?

India मे दो stock exchange है एक Bombay Stock Exchange ( Asia’s Oldest ) और National Stock Exchange.

Bombay Stock Exchange ( BSE ) का Index Sensex है। BSE पर 5439 companies listed है।
National Stock Exchange ( NSE ) का Index Nifty 50 है। NSE पर 1952 companies listed है।

Sensex 30

BSE ने 30 ऐसी companies को चूना जो अपने sector मे market leader है और उसका group बनाया यानि Index Sensex।
Ex :- Market मे बहुत सारे bank है लेकिन leader HDFC Bank & SBI Bank है ।
Sensex 30 Companies List

Nifty 50

NSE ने 50 ऐसी companies को चूना जो अपने sector मे market leader है और उसका group बनाया यानि Index Nifty 50।
Ex :- Market मे बहुत IT Companies है लेकिन leader TCS & Infosys है ।
Nifty 50 Companies List

What is Share Market in Hindi

Open Free Upstox Demat & Trading Account

Limited time Offer January 2022

Demat & Trading Account क्या है

Share market मे निवेश करना है तो bank account, demat और trading account होना जरूरी है।
जो पैसा हमे शेअर market मे निवेश करना है वो पहले हमारे bank account मे होना जरूरी है फिर उस पैसे को trading account मे transafer करना होगा तब हम शेअर खरीद सकते है। और खरीदे हूऐ शेअर रखने के लिए demat account होता है।

उदाहरण :-
आपके पास 1 लाख रूपये है लेकिन आपको रू 50 हजार के शेअर खरीदने है। आपको रू 50 हजार bank account से trading ac मे भेजने होंगे आप online भी भेज सकते हो जैसे UPI,NET-BANKING से और Offline Cheque से भी। अब आपने रू 50 हजार के Reliance Industries के shares खरीदे पर आपको खरीदे हूऐ शेअर मिलेंगे कैसे इसलिए उस shares को demat account मे रखा जाता है। पहले जमाने में share certificate मिला करते थे, अब जमाना digital है इसलिए electronic form मे शेअर demat account मे रखे जाते है।

खरीदे हूऐ शेअर demat ac मे कब जमा होंगे ?

आपने Monday को खरीदे हूऐ शेअर Monday को जमा नहि होंगे। शेअर demat ac मे जमा होने के लिए समय लगता है। भारत मे share settlement cycle T+2 दिन की है।
यानि Monday को खरीदे हूऐ share, Monday + Tuesday + Wednesday = Wednesday को share demat account मे जमा होंगे।
Friday को खरीदे हूऐ शेअर Sunday कै जमा नहि होते, Saturday+Sunday शेअर market बंद होता है इसलिए Friday को लिए हूऐ share Tuesday को जमा होंगे।

और अगर हमने शेअर बेच दिए तो वो पैसा trading account मे जमा होने मे भी T+2 Day का समय लगता है। फिर trading account से bank account मे पैसा आप भेज सकते हो।

Demat & Trading Account शेअर broker और कई bank open करवाते है।
आप Zerodha और Upstox का Demat and Trading account खुलवा सकते है
Zerodha – Review 2020
Upstox – Ratan Tata ने खुद Upstox मे निवेश किया है
Upstox Online Account – Link

शेअर मार्केट मे निवेश कैसे करे ? How to invest in share market ?

Open Free Demat & Trading Account With Upstox

Limited Time Offer January 2022


Share market मे निवेश का सहि समय कैसे पता करे ?

आपको Nifty का PE valuation देखकर निवेश करना होगा।

Nifty PE – Price Earning Ratio – आजतक का इतिहास देखे तो PE 10 से लेकर 30 के दायरे मे घुमा है। लेकिन 10 से निचे नहि गया और 30 के आगे नहि गया।

PE 10 से 15 के दायरे मे होता है तब market का valuation सस्ता होता है।
PE 25 से 30 के दायरे मे होता है तब market का valuation महंगा होता है।

Share market मे जो सफल निवेशक है वो Nifty PE जब 10 – 15 है तब जादा निवेश करते है और PE 25-30 हो तब वो निवेश कम करते है या इस time profit book करते है ।
आप सोच रहे होंगे कि अब मै किस PE पर कितना निवेश करू । इसलिए आप पूरा Blog पढे ।

How to identify bad share in hindi

  • जिस कंपनी का मैनेजमेंट अच्छा नहीं है या कॉरपोरेट गवर्नेंस के मुद्दे हैं।
  • कंपनी का ट्रैक रिकॉर्ड खराब है।
  • बैलेंसशीट का कुछ मूल्य नहीं है।
  • कंपनी के पास कम संपत्ति है।
  • कंपनी लाभांश नहीं देती है।
  • वित्तीय प्रदर्शन बहुत अधिक है।
  • कंपनी आर्थिक कारक पर अधिक निर्भर करती है।
  • कंपनी को सरकार की नीति पर बहुत निर्भर होना चाहिए।
  • यह कुछ कारक है जिसे आपको ध्यान में रखना है।

निवेश करने से पहले कंपनी पर रिसर्च करें

निवेश करने से पहले
अगर आप शेयर बाजार में अच्छा रिटर्न चाहते हैं तो केवल शेयर की कीमत के आधार पर निवेश के फैसले न लें।

निम्नलिखित की जाँच करें: –

  • कंपनी की बैलेंस शीट।
  • कंपनी के व्यवसाय का अध्ययन करें।
  • उत्पादों की जाँच करें।
  • प्रबंधन साक्षात्कार और एजीएम देखें – वार्षिक आम बैठक।
  • तकनीकी – स्टॉक चार्ट।
  • कंपनी का फंडामेंटल – आरओई, आरओसीई, प्रॉफिट ग्रोथ।
  • अनुकूल दीर्घकालिक अर्थशास्त्र व्यवसाय।

निवेश कि planning कैसे करे ?

शेअर मार्केट क्या होता है  - What is Share Market in hindi

Example :-
अगर आपके पास 1 लाख है।
Nifty PE 10 से 15 के दायरे मे है तब 70% निवेश करना है।
15 से 20 के दायरे मे है तब 50% निवेश करना है।
20 से 25 के दायरे मे है तब 40% निवेश करना है।
25 से 30 के दायरे मे है तब 20% निवेश करना है।

What is Share Market in hindi

शेयर के दरों में उतार-चढ़ाव क्यों होता है ? why do stock rates fluctuate ?

जो स्टॉक की कीमतों में उतार-चढ़ाव का कारण बनती हैं। क्योंकि शेयर बाजार एक नीलामी की तरह कार्य करता है, जब विक्रेताओं की तुलना में अधिक खरीदार होते हैं, तो कीमत को अनुकूलित करना पड़ता है या कोई ट्रेड नहीं किया जाता है। यह कीमत को ऊपर की ओर ले जाता है, बाजार के भाव को बढ़ाता है जिस पर निवेशक अपने शेयर बेच सकते हैं |

शेयर के दरों में उतार-चढ़ाव क्यों होता है

उदाहरण: मान लीजिए हम सब्जी मंडी जाते हैं और सब्जी खरीदने जाते हैं और उससे संजीवाला से पूछते हैं कि 1 किलो आलू की कीमत क्या है, वह 30 रुपये किलो कहता है, तो हम आलू की कीमत कम करते हैं और कहते हैं 25 किलो, वह कहता है नहीं, 25 खरीद मूल्य है, फिर हम कहते हैं 26 रुपये दें तो सब्जीवाला ने कहा नहीं तुम्हारे या मेरी कीमत पर मैंने 28 रुपये दिए और फिर हम 28 रुपये में 1 किलो आलू खरीदते हैं, कीमत यहां उतार-चढ़ाव हुई, बाद में कीमत तय की गई, यह है सौदेबाजी कहा जाता है। शेयर बाजार में भी ऐसा ही होता है।

जब शेयरों में अधिक मांग होती है, तो शेयर की कीमतें बढ़ने लगती हैं।

उच्च मांग के कुछ कारण हो सकते हैं जैसे कंपनी का अच्छा प्रदर्शन, बाजार में अच्छी खबर।

और जब शेयरों की आपूर्ति अधिक होती है, तो कीमतें गिरने लगती हैं। अधिक आपूर्ति के कुछ कारण भी हो सकते हैं जैसे कंपनी का खराब प्रदर्शन, बाजार में बुरी खबर।

Demat & Trading Account शेअर broker और कई bank open करवाते है।

आप Zerodha और Upstox का Demat and Trading account खुलवा सकते है
Zerodha – Review 2020
Upstox – Ratan Tata ने खुद Upstox मे निवेश किया है

Share Market in Hindi Faq

What is Share Market in Hindi

India मे दो stock exchange है एक Bombay Stock Exchange ( Asia’s Oldest ) और National Stock Exchange.
Bombay Stock Exchange ( BSE ) का Index Sensex है। BSE पर 5439 companies listed है।
National Stock Exchange ( NSE ) का Index Nifty 50 है। NSE पर 1952 companies listed है।

Sensex 30
BSE ने 30 ऐसी companies को चूना जो अपने sector मे market leader है और उसका group बनाया यानि Index Sensex।
Ex :- Market मे बहुत सारे bank है लेकिन leader HDFC Bank & SBI Bank है ।
Sensex 30 Companies List

Nifty 50
NSE ने 50 ऐसी companies को चूना जो अपने sector मे market leader है और उसका group बनाया यानि Index Nifty 50।
Ex :- Market मे बहुत IT Companies है लेकिन leader TCS & Infosys है ।
Nifty 50 Companies List


Share market मे निवेश का सहि समय कैसे पता करे

आपको Nifty का PE valuation देखकर निवेश करना होगा।
Nifty PE – Price Earning Ratio – आजतक का इतिहास देखे तो PE 10 से लेकर 30 के दायरे मे घुमा है। लेकिन 10 से निचे नहि गया और 30 के आगे नहि गया।

PE 10 से 15 के दायरे मे होता है तब market का valuation सस्ता होता है।

PE 25 से 30 के दायरे मे होता है तब market का valuation महंगा होता है।

Share market मे जो सफल निवेशक है वो Nifty PE जब 10 – 15 है तब जादा निवेश करते है और PE 25-30 हो तब वो निवेश कम करते है या इस time profit book करते है ।
आप सोच रहे होंगे कि अब मै किस PE पर कितना निवेश करू । इसलिए आप पूरा Blog पढे ।

Demat & Trading Account क्या है


Share market मे निवेश करना है तो bank account, demat और trading account होना जरूरी है।
जो पैसा हमे शेअर market मे निवेश करना है वो पहले हमारे bank account मे होना जरूरी है फिर उस पैसे को trading account मे transafer करना होगा तब हम शेअर खरीद सकते है। और खरीदे हूऐ शेअर रखने के लिए demat account होता है।

उदाहरण :-
आपके पास 1 लाख रूपये है लेकिन आपको रू 50 हजार के शेअर खरीदने है। आपको रू 50 हजार bank account से trading ac मे भेजने होंगे आप online भी भेज सकते हो जैसे UPI,NET-BANKING से और Offline Cheque से भी। अब आपने रू 50 हजार के Reliance Industries के shares खरीदे पर आपको खरीदे हूऐ शेअर मिलेंगे कैसे इसलिए उस shares को demat account मे रखा जाता है। पहले जमाने में share certificate मिला करते थे, अब जमाना digital है इसलिए electronic form मे शेअर demat account मे रखे जाते है।

शेयर के दरों में उतार-चढ़ाव क्यों होता है ? why do stock rates fluctuate ?

जो स्टॉक की कीमतों में उतार-चढ़ाव का कारण बनती हैं।
क्योंकि शेयर बाजार एक नीलामी की तरह कार्य करता है, जब विक्रेताओं की तुलना में अधिक खरीदार होते हैं, तो कीमत को अनुकूलित करना पड़ता है या कोई ट्रेड नहीं किया जाता है।
यह कीमत को ऊपर की ओर ले जाता है, बाजार के भाव को बढ़ाता है जिस पर निवेशक अपने शेयर बेच सकते हैं

खरीदे हूऐ शेअर demat ac मे कब जमा होंगे ?


आपने Monday को खरीदे हूऐ शेअर Monday को जमा नहि होंगे। शेअर demat ac मे जमा होने के लिए समय लगता है। भारत मे share settlement cycle T+2 दिन की है।
यानि Monday को खरीदे हूऐ share, Monday + Tuesday + Wednesday = Wednesday को share demat account मे जमा होंगे।
Friday को खरीदे हूऐ शेअर Sunday कै जमा नहि होते, Saturday+Sunday शेअर market बंद होता है इसलिए Friday को लिए हूऐ share Tuesday को जमा होंगे।

और अगर हमने शेअर बेच दिए तो वो पैसा trading account मे जमा होने मे भी T+2 Day का समय लगता है। फिर trading account से bank account मे पैसा आप भेज सकते हो।

Demat & Trading Account शेअर broker और कई bank open करवाते है।
आप Zerodha और Upstox का Demat and Trading account खुलवा सकते है
Zerodha – Review 2020
Upstox – Ratan Tata ने खुद Upstox मे निवेश किया है
Upstox Online Account – Link

How to identify bad share in hindi

जिस कंपनी का मैनेजमेंट अच्छा नहीं है या कॉरपोरेट गवर्नेंस के मुद्दे हैं।
कंपनी का ट्रैक रिकॉर्ड खराब है।
बैलेंसशीट का कुछ मूल्य नहीं है।
कंपनी के पास कम संपत्ति है।
कंपनी लाभांश नहीं देती है।
वित्तीय प्रदर्शन बहुत अधिक है।
कंपनी आर्थिक कारक पर अधिक निर्भर करती है।
कंपनी को सरकार की नीति पर बहुत निर्भर होना चाहिए।
यह कुछ कारक है जिसे आपको ध्यान में रखना है।

Open Online Demat & Trading Account with Zerodha – Click Here
Open Online Demat & Trading Account with Groww – Click Here

What is Share Market in hindi blog अछा लगा हो तो comment करे और share करे। Thanks